बॉलीवुड को गंदी इंडस्ट्री बताने पर न्यूज़ चैनलों पर भड़के प्रोड्यूसर, पहुंचे दिल्ली हाईकोर्ट

दिल्ली हाईकोर्ट.

बॉलीवुड के प्रमुख निर्माताओं ने रिपब्लिक टीवी, टाइम्स नाउ और सोशल मीडिया मंचों को बॉलीवुड के खिलाफ कथित गैर जिम्मेदाराना और अपमानजनक टिप्पणियां करने या प्रकाशित करने से बचने संबंधी निर्देश देने का अनुरोध किया गया है. निर्माताओं ने हाईकोर्ट से न्यूज चैनलों को फिल्म इंडस्ट्री को ‘गंदा’, ‘मैला’ ‘ड्रगी’ बताने से रोकने का अनुरोध किया है.

नई दिल्ली. बॉलीवुड के प्रमुख निर्माताओं ने सोमवार को रिपब्लिक टीवी (Republic TV) और टाइम्स नाउ (Times Now) के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) का रूख किया. निर्माताओं ने कोर्ट से फिल्म इंडस्ट्री के खिलाफ कथित तौर पर ‘गैर जिम्मेदाराना और अपमानजनक टिप्पणियां’ करने या प्रकाशित करने से रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाउ को रोकने का अनुरोध किया है.

साथ ही उन्होंने विभिन्न मुद्दों पर उनके सदस्यों का ‘मीडिया ट्रायल’ रोकने का भी आग्रह किया है. 4 फिल्म इंडस्ट्री एसोसिएशनों और 34 निर्माताओं द्वारा दायर इस याचिका में इंडस्ट्री से जुड़े व्यक्तियों की गोपनीयता के अधिकार में हस्तक्षेप करने से उन्हें रोके जाने का भी अनुरोध किया गया है.

इसमें रिपब्लिक टीवी, उसके प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) और पत्रकार प्रदीप भंडारी (Pradeep Bhandari), टाइम्स नाउ और उसके प्रधान संपादक राहुल शिवशंकर (Rahul Shivshankar) और समूह संपादक नविका कुमार (Navika Kumar) और अज्ञात लोगों के साथ-साथ सोशल मीडिया मंचों को बॉलीवुड के खिलाफ कथित तौर पर गैर जिम्मेदाराना और अपमानजनक टिप्पणियां करने या प्रकाशित करने से बचने संबंधी निर्देश देने का अनुरोध किया गया है.

डीएसके कानूनी फर्म के जरिए दायर केस में कहा गया है, ‘ये चैनल बॉलीवुड के लिए अत्यधिक अपमानजनक शब्दों और उक्ति जैसे ‘गंदा’, ‘मैला’ ‘ड्रगी’ का इस्तेमाल कर रहे हैं. ये चैनल ‘यह बॉलीवुड है जहां गंदगी को साफ करने की जरूरत है’, ‘अरब के सभी इत्र बॉलीवुड की बदबू को दूर नहीं कर सकते हैं’, ‘यह देश का सबसे गंदा उद्योग है’ आदि उक्तियों का इस्तेमाल कर रहे है.’





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here