फ्लिपकार्ट

फ्लिपकार्ट

ई-कॉमर्स क्षेत्र की दिग्गज कंपनी वालमार्ट (Walmart) ने बताया कि 31 अक्टूबर को समाप्त तिमाही के दौरान उसके अंतरराष्ट्रीय कारोबार की कुल बिक्री 1.3 प्रतिशत बढ़कर 29.6 अरब अमेरिकी डॉलर रही.

नई दिल्ली. ई-कॉमर्स क्षेत्र की दिग्गज कंपनी वालमार्ट (Walmart) ने बताया कि 31 अक्टूबर को समाप्त तिमाही के दौरान उसके अंतरराष्ट्रीय कारोबार की कुल बिक्री 1.3 प्रतिशत बढ़कर 29.6 अरब अमेरिकी डॉलर रही और इसमें फ्लिपकार्ट (Flipkart) और फोनपे (PhonePe) का जोरदार योगदान रहा.

2018 में वालमार्ट ने फ्लिपकार्ट में खरीदी थी मेजॉरिटी हिस्सेदारी
कंपनी ने बताया कि फ्लिपकार्ट और फोनपे के मासिक सक्रिय उपयोगकर्ताओं की संख्या सर्वकालिक ऊंचाई पर है. अमेरिका स्थित वालमार्ट ने 2018 में भारतीय ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट में 16 अरब अमेरिकी डॉलर में मेजॉरिटी हिस्सेदारी हासिल की थी.

ये भी पढ़ें-  आलू-प्याज की कीमत ने बिगाड़ा आम आदमी की रसोई का बजट, सिर्फ 13 दिन में बढ़ें 19 से 20 रु किलो तक दामएक बयान में वालमार्ट ने कहा कि उसके अंतरराष्ट्रीय कारोबार की कुल बिक्री 1.3 प्रतिशत बढ़कर 29.6 अरब डॉलर रही और विनिमय दरों में नकारात्मक असर के कारण उसकी कुल बिक्री पर करीब 1.1 अरब डॉलर का असर पड़ा.

कंपनी ने कहा, ”विनिमय दर के असर को छोड़ दें तो कुल बिक्री पांच प्रतिशत बढ़कर 30.6 अरब डॉलर रही, जिसकी अगुवाई फ्लिपकार्ट, कनाडा और वालमेक्स ने की. फ्लिपकार्ट ने रिकॉर्ड सक्रिय मासिक उपयोगकर्ताओं के चलते शुद्ध बिक्री में जोरदार वृद्धि दर्ज की.”

ये भी पढ़ें- Chhath pooja 2020: छठ पर तीन गुना तक महंगी हो गई फ्लाइट्स, टिकट कराने से पहले चेक करें रेट्स

वॉलमार्ट के अध्यक्ष, सीईओ और निदेशक सी डगलस मैकमिलन ने भी भारतीय इकाइयों के मजबूत प्रदर्शन का उल्लेख किया. उन्होंने कहा, ”भारत में फ्लिपकार्ट और फोनपे के तिमाही नतीजे मजबूत थे. इन मंचों के मासिक सक्रिय उपयोगकर्ताओं की संख्या सर्वकालिक उच्च स्तर पर है.”





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here